कैप्टन के बयान पर हरियाणा की राजनीति में बवाल, जगह-जगह फुके जा रहे हैं कैप्टन के पुतले

चंडीगढ़ ।

सियासत बयानों पर टिकी होती है और कब किस बयान से यह गरमा जाए..कुछ पता नहीं होता है। यही कारण रहता है कि कोई भी पार्टी अपने नेताओं को हमेशा संभलकर बोलने को कहती है। फिलहाल तो इन दिनों पंजाब से आये एक बयान के चलते हरियाणा की सियासत गरमा गई है। पंजाब के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह के बयान हरियाणा ने सियासती माहौल को गर्म कर दिया है। कैप्टन के बयान पर जहां पहले हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज भड़कते नजर आये थे वहीं अब पंचकूला में भारतीय जनता युवा मोर्चा कैप्टन अमरिंदर सिंह के बयान पर विद्रोह के रूप में उनका और साथ राहुल गांधी का पुतला फूंक रहा है। शालिमार चौक पर कैप्टन और राहुल गांधी का पुतला फूंका जा रहा है।

जींद भाजपा के कार्यकर्ताओ ने जिला अध्यक्ष राजू मोर व जिला महामंत्री जगदीश उझाना के नेतृत्व में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और राहुल गांधी का पुतला फूंक कर विरोध प्रदर्शन किया। भाजपा के कार्यकर्ता कैथल रोड स्थित पार्टी जिला कार्यालय में एकत्र हुए और उक्त नेताओं का पुतला फूंका।

ऐसा क्या कैप्टन ने कह दिया?

दरअसल, कैप्टन अमरिंदर सिंह हाल ही में होशियारपुर जिले के ग्राम मुखलियाना में एक राजकीय कॉलेज का शिलान्यास करने पहुंचे हुए थे। इसी बीच कैप्टन ने मंच से सम्बोधित किया। अपने सम्बोधन के दौरान कैप्टन ने किसान आंदलोन की बात भी की। कैप्टन ने कहा कि पंजाब में भी कई जगहों पर नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान बैठे हुए हैं। इससे पंजाब को आर्थिक तौर पर नुकसान हो रहा है| ये अपना उनका पंजाब है पंजाब का नुकसान क्यों कर रहे हैं| दिल्ली-हरियाणा में जो करना है करें। वहां जाकर केंद्र सरकार के कानूनों को रद्द करवाने को लेकर अड़िये।

विज गए थे भड़क ….

कैप्टन के बयान की जानकारी होने पर ही हरियाणा के गृह मंत्री विज का बयान सामने आ गया था, जिसमें वह कैप्टन के बयान पर भड़कते नजर आये। बयान में विज ने कहा था कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का किसानों को यह कहना की हरियाणा में या दिल्ली में जाकर जो चाहो करो और पंजाब में मत करो बहुत ही गैर जिम्मेदाराना बयान है। इससे यह साबित होता है किसानों को भड़काने का काम अमरिंदर सिंह ने ही किया है।