हमारे बारे में……

जैसा कि आप जानते हैं कि हरियाणा का लोकप्रिय हिन्दी दैनिक जगत क्रान्ति पिछले 40 वर्षों से निरन्तर प्रकाशित हो रहा है। 26 दिसम्बर 1979 को साप्ताहिक जगत क्रान्ति की स्थापना मेरे स्व. पिता श्री तिलक राज जी भाटिया ने की थी। तब से यह समाचार पत्र निरंतर रूप से प्रकाशित हो रहा है। हरियाणा के जीन्द जैसे छोटे से शहर से एक समाचार पत्र के प्रकाशन की कल्पना से ही जहां कंपकपी चढऩे लगती हैं, वही मेरे पूज्य पिता ने ना केवल अमली जामा पहनाया, बल्कि जीन्द और आसपास के क्षेत्र में जगत क्रान्ति को प्रतिष्ठित समाचार पत्र के
रूप में स्थापित भी किया। उन्होंने वर्ष 1987 में एक कदम और आगे ले जाते हुये
जगत क्रान्ति को साप्ताहिक से दैनिक कर दिया। तब हमारे तथाकथित विरोधियों
ने इसे एक मूर्खतापूर्ण कदम बताया था, किंतु मेरे पिताश्री ने इसे एक चैलेंज के
रूप में स्वीकार किया। मेरे पिता अपने समाचार पत्र के शीर्ष पर एक शेर लिखते
थे : फानूस बनकर जिसकी हिफाजत हवा करे वह शम्मा क्या बुझे जिसे रोशन
खुदा करें, क्योंकि मेरे पिता का मानना था कि कर्म ही मनुष्य का सबसे बड़ा
सिद्धांत होना चाहिए, जो उसे प्रगति के पथ पर ले जाता है। उन्होंने अपना सारा
जीवन इसी मूल मंत्र के सहारे ही व्यतीत किया।

20 जून 1992 का दिन हमारे लिए एक मनहूस खबर लेकर आया। हमारे पिता श्री
का साया हमारे सिर से उठ गया। पिता श्री के स्वर्गवास के बाद जगत क्रांति के
प्रकाशन की पूरी जिम्मेदारी मेरे और मेरे अनुज अजय भाटिया के कंधो पर आ
गई। हमने सामूहिक रूप से ना केवल इस जिम्मेदारी को उठाया, बल्कि अपने
पिता के सपनों को साकार करने के लिये जी जान से जुट गये। जगत क्रांति को

और विस्तार देने के लिए वर्ष 1996 में हमने जीन्द (हरियाणा) जैसे छोटे से कस्बे
में समाचार पत्र मुद्रण की अति आधुनिक तकनीक वैब आफसेंट प्रिंटिंग प्रैस की
स्थापना की।

इसी सफर को आगे बढ़ाते हुये हमने अपने लगातार प्रयास और सतत मेहनत
करते हुये वर्ष 2015 में हरियाणा से आगे निकलते हुए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के
नोएडा (उत्तर प्रदेश) में एक नवीनतम तकनीक से सुसज्जित स्वचालित वैब
आफसेट प्रिंटिंग प्रैस की स्थापना की। हमारे इस सफर में जगत क्रान्ति की टीम
में प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े साथियों का भी उतना ही योगदान है। यह
हमारा सामूहिक प्रयास ही है कि आज जगत क्रान्ति के तीन संस्करण जीन्द
(हरियाणा), नई दिल्ली और नोएडा (उत्तर प्रदेश) से प्रकाशित हो रहे हैं। अब एक
कदम और आगे बढ़ाने का समय आ गया है, क्योंकि वर्तमान युग में दुनिया का
डिजिटलाईजेशन हो रहा हैं, इसलिये जगत क्रान्ति प्रबन्धन ने यह निर्णय लिया है
कि जगत क्रान्ति समाचार पत्र के साथ-साथ जगत क्रान्ति का डिजिटल चैनल
जगत जगत क्रान्ति टीवी के नाम से आरम्भ किया जाये तथा समाचारों को शीघ्र
अति शीघ्र आप तक पहुंचाने के लिए एक वेबसाइट का निर्माण किया जाए। शीघ्र
ही यह मूर्त रूप में आपके समक्ष होगा। मुझे पूर्ण विश्वास है कि जैसे जगत
क्रान्ति समाचार पत्र को आपका प्यार मिला है वैसे ही जगत क्रान्ति वेबसाइट और
टीवी को भी आपका सहयोग मिलेगा। मैं आपको विश्वास दिलाना चाहता हूँ कि
बाजारीकरण के इस दौर में हम आपको सत्य और निष्पक्षता से अवगत करवाते
रहेंगे।

आपका अपना
अरुण भाटिया अजय भाटिया
मुख्य संपादक महाप्रबंधक